मुखय पृष्ठ परिसर और सुविधाएं पाठ्यक्रम स्टाफ समितियां गतिविधिया/योजना अचल संपत्ति संपर्क करें फोटो
 
समय सारणी
प्रवेशित विधार्थियों की सूची 2017-18

महाविद्यालय की अधोसंरचना

शासकीय संस्कृत महाविद्यालय ग्वालियर (म. प्र.) की स्थापना बसंत पंचमी के दिन सन् 1854 में हुई। सन् 1900 में गवर्नमेन्ट संस्कृत कॉलेज बनारस से इस महाविद्यालय को आचार्य की परीक्षा के लिये मान्यता प्राप्त हुई। महाविद्यालय सन् 1902 में परीक्षा केन्द्र बना और सन् 1931 में संस्कृत शिक्षा सचिवालय भोपाल से सम्बद्ध हुआ। सन् 1986 में यह महाविद्यालय अवधेश प्रताप सिंह विश्वविद्यालय रीवा से सम्बद्ध हुआ। सन् 2008 से यह महाविद्यालय महर्षि पाणिनि संस्कृत एवं वैदिक विश्वविद्यालय उज्जैन से सम्बद्ध है। महाविद्यालय के शालेय स्तर की कक्षाएं प्रथमा से मध्यमा तक महर्षि पतंजलि संस्कृत संस्थान भोपाल से सम्बद्ध है। महाविद्यालय में प्रथमा से लेकर आचार्य पर्यन्त कक्षाऐं संचालित हैं जिनमें साहित्य, व्याकरण एवं ज्योतिष विषय का अध्ययन अध्यापन होता है। इसके अतिरिक्त महाविधालय साहित्य विषय के शोधकेंद्र के रूप में मान्य है |

 
All Rights Reserved with Sanskrit Mahavidyalaya, Gwalior Developed By : Addmen Institute Management Software Institute Management Software